चेहरे Mc Square Chehre Lyrics Rap Song | Hustle 2.0

चेहरे Mc Square Chehre Lyrics Rap Song | Hustle 2.0

चेहरे Mc Square Chehre Lyrics Rap Song | Hustle 2.0 in Hindi & Hinglish: Rapper Mc Square, The latest Hindi RAP song “Chehre” is sung by Mc Square from the album “Hustle 2.0.” The lyrics are written by Mc Square. The music for this brand new song is provided by Mc Square. The song was released on 09 Oct 2022. Visitors can find the song lyrics and its music video here.

Chehre by MC Square Rap Song. Tell us how do you like it in our comment section.

Chehre Rap Song Info

चेहरे Mc Square Chehre Lyrics Rap Song | Hustle 2.0, Hindi Hip-Hop (Rap), KaanPhod Music, Album Hustle 2.0, Chehre Rap Song 2022
Album Name:Hustle 2.0
Song Title:Chehre ( चेहरे )
Singer:Mc Square
Lyrics:Mc Square
Music:Mc Square
Genre:Hip-Hop (Rap)
Released:09 Oct 2022
Language:Hindi
Music Label:KaanPhod Music

Hinglish

Chehre Lyrics

Milte thhe chehre joh kaafi woh dikhte hai aaj bhi
Paap ya paapi tha kaun main dhoondun bas saadgi
Tasveer koi khaas si
Aksar hi nazron ke saami bas dhundhli si yaad ki
Tha woh kaun shayad yeh yaad nahi
Bas yaad hai odhi thi usne bhi dhun koi saaz ki

Kabhi dikhte hai phone ki feed mein
Kabhi dikhte hai raahon mein bheed mein
Kabhi aankhon mein dikhte hain bas
Jab sunta hoon dhun koi jaani si peedh mein

Ab aksar milte nahi hai woh
Main unka jinke nahi hai wo,
Kabhi taire thhe khushi ki lehron mein saath
Main dooba ab tinke nahi hai woh
Chehra tha ek woh gaon ya shahar thha
Na hain maloom mujhe,
Ghadi mein tiki thhi nazre kya pahar
Thha na hain maloom mujhe,

Subah ke sapne thhe bag mein
Shaam ko bojh ke qaid mein
Maathe ki shikan shayad kehti thhi
Thehar ja na hain maloom mujhe

Ek ki 10 ki aayu, 20 me raavan woh chehra jatayu
30 mein pohuncha aur dekha phir aaina
Dikhe bas ret aur sehra ki vaayu

Phir aayi umar pachaas
Chehre pe likha hataash
Abhi bhi jaari talaash
Aankhon mein dikha bas kaash

Milte thhe chehre joh kaafi woh dikhte hai aaj bhi
Paap ya paapi thha kaun main dhoondun bas saadgi
Tasveer koi khaas si
Aksar hee nazron ke saami bas dhundhli si yaad ki
Tha woh kaun shayad yeh yaad nahi
Bas yaad hain odhi thhi usne bhi dhun koi saaz ki

Yeh dekho aurat ka chehra
Koi gharelu koi jhujhaaru
Koi khush hain khet ki medhon pe
Koi kahe main samaj sudhaarun

Koi nudes se views mein phansa
Chaahe koi kureet ke kapde utaarun
Koi chain se marna chaahe
Koi kahe gadhe murde ukhaadun

Dekhe hain naadaani chehre
Dekhe hain manmaani chehre
Dekhe hain insaani chehre
Dekhe hain kayi gyaani chehre

Alfaazon ke chehre kuch seedhe kuch gehre
Takazon ke chehre kuch behte kuch thehre
Awaazon ke chehron pe siyaasi pehre
Riwaazon ke chehron pe samaaji behre

Dekha bhagwan ka chehra
Gita ka chehra, quran ka chehra
Aankhon pe patti hain chehron ki
Koi subah ka chehra, koi shaam ka chehra

Koi toh naam ka chehra
Kisi ka saathi, hain kisme magan
Kis se hain pyar, aur kis se jalan
Kya aisa hain kaam ka chehra?

Milte thhe chehre joh kaafi woh dikhte hai aaj bhi
Paap ya paapi tha kaun main dhoondu bas saadgi
Tasveer koi khaas si,
Aksar hee nazron ke saami bas dhundhli si yaad ki
Tha woh kaun shayad yeh yaad nahi
Bas yaad hain odhi thhi usne bhi dhun koi saaz ki

Written By:– Mc Square

Hindi (हिन्दी)

चेहरे Lyrics In Hindi

मिलते थे चेहरे जो काफी वो दिखते है आज भी
पाप या पापी था कौन मैं ढूँढू बस सादगी
तस्वीर कोई ख़ास सी
अक्सर ही नज़रों के सामी बस धुंधली सी याद की
था वो कौन शायद ये याद नहीं
बस याद है ओढ़ी थी उसने भी धुन कोई साज़ की

कभी दिखते है फ़ोन के फीड में
íकभी दिखते है राहों में भीड़ में
कभी आँखों में दिखते है बस
जब सुनता हूँ धुन कोई जानी सी पीढ़ में
अब अक्सर मिलते नहीं है वो
मैं उनका जिनके नहीं है वो
कभी तैरे थे ख़ुशी की लहरों में साथ
मैं डूबा अब तिनके नहीं है वो

चेहरा था एक वो गांव या शहर था, न है मालूम मुझे
घडी में टिकी थी नज़रें क्या पहर था, न है मालूम मुझे
सुबह के सपने थे बैग में
शाम को बोझ के क़ैद में
माथे की शिकन शायद कहती थी ठहर जा न है मालूम मुझे
एक की दस (10) की आयु, बीस (20) में रावण वो चेहरा जटायु
तीस (30) में पहुँचा और देखा फिर आइना
दिखे बस रेत और सेहरा की वायु

फिर आयी उम्र पचास
चेहरे पे लिखा हताश
अभी भी जारी तलाश
आँखों में दिखा बस काश

मिलते थे चेहरे जो काफी वो दिखते है आज भी
पाप या पापी था कौन मैं ढूँढू बस सादगी
तस्वीर कोई ख़ास सी
अक्सर ही नज़रों के सामी बस धुंधली सी याद की
था वो कौन शायद ये याद नहीं
बस याद है ओढ़ी थी उसने भी धुन कोई साज़ की

ये देखो औरत का चेहरा, कोई घरेलु कोई झुंझारू
कोई खुश है खेत की मेढ़ों पे, कोई कहे मैं समाज सुधारू
कोई न्यूड से व्यूज में फंसा, चाहे कोई कुरीत के कपडे उतारूँ
ìकोई चैन से मरना चाहे, कोई कहे गड़ें मुर्दे उखाडूँ
देखे है नादानी चेहरे
देखे है मनमानी चेहरे
ìदेखे है इंसानी चेहरे
देखे है कई ज्ञानी चेहरे
अल्फ़ाज़ों के चेहरे कुछ सीधे कुछ गहरे
तक़ाज़ों के चेहरे कुछ बहते कुछ ठहरे
आवाज़ों के चेहरों पे सियासी पहरे
रिवाज़ों के चेहरों पे समाजी बहरे
देखा भगवान का चेहरा
गीता का चेहरा, क़ुरान का चेहरा

आँखों पे पट्टी है चेहरों की
कोई सुबह का चेहरा, कोई शाम का चेहरा
कोई तो नाम का चेहरा
किसी का साथी, है किसमें मगन
किस से है प्यार, और किस से जलन
क्या ऐसा है काम का चेहरा?

मिलते थे चेहरे जो काफी वो दिखते है आज भी
पाप या पापी था कौन मैं ढूँढू बस सादगी
तस्वीर कोई ख़ास सी
अक्सर ही नज़रों के सामी बस धुंधली सी याद की
था वो कौन शायद ये याद नहीं
बस याद है ओढ़ी थी उसने भी धुन कोई साज़ की

Written By:– Mc Square

Youtube Video

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.